Celeb talk

Sunny Deol

NBT की ओर से देश के तमाम शहरों में ऑर्गनाइज़ की जा रही बाइक रैली बहुत अच्छा प्रयास है। मैं सभी बहनो को बहुत-बहुत शुभकामनाएं देना चाहता हूँ। मैं महिलाओ को कहना चाहूंगा की उन्हें ऐसा कभी नहीं सोचना चाहिए की वे अगर महिलाएं हैं , तो किसी से कम हैं। क्योंकि वे अगर चाहें तो कुछ भी कर सकती हैं। मैं हमेशा कहता भी हूँ की एक औरत ही आपकी माँ है,एक औरत ही आपकी बहन है , एक औरत ही आपकी बीवी है और एक औरत ही आपकी बेटी है। इसलिए पुरुषों को भी महिलाओं की इज्ज़त करनी चाहिए।

मनोज वाजपेयी

बाइक की आगे बढ़ती रहें

नवभारत टाइम्स की ऑल वुमन बाइक रैली महिला शक्ति को आगे लाने का एक बेहतरीन प्रयास है। मैं कहना चाहूंगा कि इस तरह की कोशिशों से निश्चति तौर पर महिलाओं को समाज में बेहतर स्थान मिलता है। मेरी शुभकामनाएं हैं कि महिलाओं को समाज में और बेहतर स्थान मिले। अपनी बाइक की तरह महिलाएं भी लगातार आगे बढ़ती रहें और अपने जीवन में आने वाली परेशानियों को सड़कों और पहाड़ों की तरह रौंदती रहें।

राजकुमार राव

हमेशा विनर बनना है आपको

एनबीटी की ऑल वुमन बाइक रैली में हिस्सा लेने वाली सभी महिलाओं को मेरी ओर से ढेर सारी शुभकामनाएं। मेरा मानना है कि महिलाओं को ऊपरवाले ने सबसे मजबूत बनाया है और उन्हें इस चीज को भूलना नहीं चाहिए। अपनी आगे बढ़ने की राह में किसी को भी आने मत दीजिए और हमेशा विनर के तौर पर अपनी पहचान बनाइए।

विकी कौशल

पुरुषों को सपोर्ट करना चाहिए

नवभारत टाइम्स की ऑल वुमन बाइक रैली एक बहुत अच्छा इनिशिएटिव है। मेरा मानना है कि हर पुरुष की सफलता के पीछे किसी महिला का हाथ होता है। वह कोई महिला ही होती है, जो खुद पीछे रहकर पुरुष को आगे आने में मदद करती है। इसलिए अगर महिलाएं ऐसा कोई प्रयास कर रही हैं, तो उसमें पुरुषों को भी उनकी मदद करनी चाहिए।

सारा जेन डियास: बाइक रैली में जरूर हिस्सा लें नवभारत टाइम्स की वुमन बाइक रैली के बारे में सुनकर मैं बहुत ज्यादा एक्साइटेड हूं। मैं सोचकर ही रोमांचित हूं कि जब हजारों महिला बाइकर एक साथ सड़कों पर उतरती होंगी, तो वहां का सीन कैसा होता होगा। बेशक, यह महिलाओं को अपनी ताकत याद दिलाने का बेहतरीन जरिया है। मेरी इसमें हिस्सा लेने वाली और जिन्होंने अब तक हिस्सा नहीं लिया, उन सबसे अपील है कि इस रैली में जरूर हिस्सा लें।

अली असगर

महिलाएं कंधे से कंधा मिलाकर चलें

यह बेहद कमाल की बात है कि नवभारत टाइम्स की बाइक रैली में लड़कियां बाइक लेकर सड़कों पर उतरती हैं। हमने अभी तक मुंबई में इस तरह लड़कियों को बाइक चलाते नहीं देखा। इसलिए यह मेरे लिए बेहद खुशी की बात है और मैं इसके लिए महिलाओं और नवभारत टाइम्स को बधाई दूंगा। मैं तो हमेशा से कहता हूं कि महिलाएं पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलें।

जूही चावला

एनबीटी की इस बाइक रैली पर मैं यही कहूंगी कि 'हम किसी से कम नहीं ' आज महिला सशक्तिकरण ' के इस दौर में हर क्षेत्र में लड़कियों का बोलबाला है। आज लड़कियों को अवसर मिल रहे हैं और वे उन अवसरों का जम कर फायदा उठा रही हैं। हमारी इंडस्ट्री में भी आज सेट पर लड़कों की तुलना में लड़कियां ज्यादा नजर आती हैं, चाहे वे मेकअप आर्टिस्ट हों, डिजाइनर या फिर सिनेमटोग्राफर। मैंने जब अपने करियर की शुरुआत की थी, तब यहां लड़कियां कम थीं। बाइक रैली जैसी चीजों में उनका हिस्सा लेना, उनके साहस और जज्बे को दर्शाता है। मैं उन्हें दिल से सपोर्ट करती हूं। वे मर्दों से किसी भी तरह कमतर नहीं, इसके बावजूद मुझे लगता है कि घर और करियर की दोहरी जिम्मेदारी का निबाह करते हुए वे कई बार कसौटी पर कसी जाती हैं। उन्हें तनाव से बचना चाहिए और खुद का खयाल भी रखना चाहिए।

जिम्मी शेरगिल

मैं तो एनबीटी की बाइक रैली का जबरदस्त समर्थक हूं। पिछले साल मैंने ही दिल्ली में इसका फ्लैग ऑफ किया था और वहां मौजूद महिलाओं की हिम्मत और जोश को देखकर मैं हैरान रहा गया था। काफी बड़ी तादाद में महिलाएं वहां मौजूद थीं। एनबीटी की इस सफल पहल पर मैं उन्हें बधाई देना चाहूंगा। पिछले साल मेरा अनुभव बहुत ही कमाल का रहा था। मैं महिला सशक्तिकरण को सलाम करता हूं। मेरा मानना है कि उनके बिना हम कुछ नहीं। वे घर और काम को जिस कुशलता से मैनेज करती हैं, वो हम मर्दों के बस का नहीं। मैं उनके लिए यही कामना करूंगा कि वे सुरक्षित होकर बाइक चलाएं।

जरीन खान

सुनकर बहुत ही एक्साइटेड फील कर रही हूं कि एनबीटी महिलाओं के लिए बाइक रैली का आयोजन करता है। मैं सबसे पहले तो एनबीटी को इस शानदार पहल पर मुबारकबाद देना चाहूंगी। वाकई हम लड़कियां किसी मामले में कम नहीं। एक जमाना था, जब मर्दों के वीइकल कहलानेवाली बाइक को जब कोई औरत चलाती थी तो उसका मजाक उड़ाया जाता था। एनबीटी इस धारणा को तोड़ने में आगे रहा है। आज महिलाओं को हर क्षेत्र में रिस्पेक्ट मिल रही है। मुझे खुशी है कि विमन एंपावरमेंट अब सिर्फ बोलने के लिए नहीं बल्कि कई पैमानों पर सच नजर आ रहा है। आज महिलाएं पुरुषों के साथ कंधे से कंधे मिलाकर चल रही हैं। ऐसी तमाम महिलाओं के लिए चियर्स और बाइक रैली में भाग लेनेवाली महिलाओं को बेस्ट ऑफ लक।

Luke Kenny

Women's day is the day we begin every year with an acknowledgment that the female gender is to be respected revered celebrated worshipped and treated with unconditional equality for the rest of our male lives. Indian society has traditionally locked in many female biases which continue to plague the modern woman till today. It is time for all women related laws to be revised and all doctrines and dogmas to be left behind in the dark ages where they belong. I would urge every person in delhi who has a mother sister wife or a woman in their lives to join this rally, cause together we can make a lot of difference.

भूमि पेडणेकर

अपने सपनों को उड़ान दें
मेरी मां गाड़ियों की रैली ड्राइवर हैं। अगर यह बाइक के बजाय गाड़ियों की रैली होती तो मैं अपनी मां को भी इसमें भाग लेने के लिए कहती। बहरहाल मैं एनबीटी की विमेन बाइक रैली पर उन्हें दिल से बधाई देना चाहूंगी। यह बहुत ही प्राउड फीलिंग है कि इसमें इतने बड़े पैमाने पर महिलाएं हिस्सा ले रही हैं। सुनकर मुझे बहुत ही इच्छा हो रही है कि काश मैं भी अगले साल इस बाइक रैली में भाग ले सकूं। वाकई कमाल का नजारा होगा, जब हर वर्ग, उम्र और तबके की महिलाएं बाइक की सवारी करती हुई फर्राटे भरेंगी। महिला सशक्तिकरण के इस दौर में एनबीटी का यह कदम प्रसंशनीय है। मैं इन तमाम महिलाओं से यही कहना चाहूंगी कि खुद पर यकीन रखो। आगे बढ़ो और अपने सपनों को उड़ान दो। हमेशा यह याद रखो कि तुमसे खूबसूरत और दमदार कोई नहीं।

You are ready to create the most memorable day of your life. It’s the time to get into your biking gear and join the rally.

All Women Bike Rally is the perfect opportunity for the biker in you to experience the ride of a lifetime. So, come and participate in the rally to become a part of this historical journey.


Route Map

Celeb Talk


KNOW MORE

Photo Gallery